हॉलीडे पैकेज के बावजूद ट्रिप न देना पड़ा महंगा: कंपनी को भरना होगा हर्जाना; ब्याज समेत रकम भी लौटानी होगी

0
5

Smart Newsline (SN)

Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join)

  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Despite The Holiday Package, The Trip Did Not Have To Be Expensive, The Company Would Have To Pay The Damages; The Amount Along With Interest Will Also Have To Be Returned

चंडीगढ़44 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सेक्टर 19 स्थित कंज्यूमर कोर्ट। (फाइल फोटो)

चंडीगढ़ के एक दंपति को 1.65 लाख रुपए की रकम भरने के बाद भी होलीडे पैकेज देने वाली कंपनी ने फॉरेन ट्रिप नहीं दिया। ऐसे में दंपति ने चंडीगढ़ कंज्यूमर कोर्ट में केस दायर किया। जिसके बाद अब दंपति को पूरी रकम ब्याज सहित वापस मिलेगी और कंपनी को हर्जाना भी भरना होगा। सेक्टर 48 ए की मीनू कक्कड़ और उनके पति गगन कक्कड़ ने वकम होलीडेज़ एंड रिसोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड, नई दिल्ली के खिलाफ यह शिकायत दी थी।

कंज्यूमर कोर्ट ने कंपनी को जारी आदेशों में कहा है कि शिकायतकर्ता दंपति द्वारा जमा करवाई 1,60,950 रुपए की फीस जमा करवाने के समय से 9 प्रतिशत ब्याज दर सहित वापस की जाए। शिकायतकर्ता पक्ष को हुई मानसिक प्रताड़ना के चलते 10 हजार रुपए हर्जाना और 5 हजार रुपए अदालती खर्च के रुप में भरे जाए।

कंपनी की ओर से कोई पेश नहीं हुआ; कोर्ट ने लिया संज्ञान

कंपनी की ओर से किसी के पेश न होने पर इसे एक्स पार्टी घोषित कर दिया गया था। कंज्यूमर कोर्ट ने कहा कि कंपनी की ओर से किसी के पेश न होने से इसकी छवि खराब हुई है। इससे पता चलता है कि कंपनी को अपनी सफाई में कुछ नहीं कहना है। शिकायतकर्ता पक्ष का कहना था कि न तो कंपनी ने उन्हें केस दायर करने तक (अक्तूबर 2019) कोई सर्विस दी और न ही उनकी रकम वापस की। कोर्ट ने कहा कि मौजूदा केस में शिकायतकर्ता पक्ष ने तय समय के तहत कंपनी से सेवाएं मांगी, जिसे प्रदान करने में कंपनी नाकाम रही। ऐसे में इसका कृत्य सेवा में कोताही है। ऐसे में शिकायत को मंजूर करते हुए कंज्यूमर कोर्ट ने अपना फैसला दिया।

लुभावने वादों को सुन 10 साल की मैंबरशिप ले ली थी

दायर शिकायत के मुताबिक कंपनी के एग्जीक्यूटिव ने शिकायतकर्ता दंपति को अपने वैकेशन क्लब प्लान के बारे में बताया था। दंपति को कहा गया कि उनकी देश-विदेश के कई रिसोर्ट्स में मैंबरशिप है। इसमें क्लब सुविधाएं, वाउचर, वैकेशन के 6 रातों और 7 दिनों के ऐक्स्ट्रा वाउचर समेत अन्य मौखिक वादे किए गए थे।

लुभावने ऑफर सुनने के बाद शिकायतकर्ता दंपति ने ’10 ईयर्स गोल्ड स्टूडियो’ प्लान बुक करवा दिया था। इसकी 1,60,950 रुपए की पेमेंट की गई थी। इनरोलमेंट ऑफर के रुप में कंपनी ने उन्हें 4 रातें, 5 दिन दुबई स्टे का ट्रिप ऑफर किया था। इसमें स्टे, ब्रेकफ़ास्ट था। इसमें 4 हवाई टिकटें भी शामिल थी मगर इसकी वैधता 2 साल बाद की थी। वहीं वर्ष 2018 की मेंटेनेंस पेमेंट के रुप में कंपनी ने दंपति से 8,260 रुपए की डिमांड की। दंपति का कहना था कि वार्षिक सब्सक्रिप्शन फीस मैंबरशिप देने के एक साल बाद ड्यू होनी थी।

ट्रिप नहीं दिया और न ही मैंबरशिप फीस लौटाई

शिकायतकर्ता ने कंपनी से होलीडे पैकेज की मांग की मगर कंपनी ने कहा कि यह अभी संभव नहीं है। वर्ष 2019 में भी दंपति ने हॉलीडे ट्रैवल बुकिंग की कोशिश की मगर वह नहीं मिला। इस कृत्य को सेवा में कोताही और गलत व्यापारिक गतिविधियों में शामिल होना बताते हुए शिकायत दायर की गई थी।

खबरें और भी हैं…

For breaking news and live news updates, like Smart Newsline on Facebook or follow us on Twitter & Whatsapp