खुद ही रचा था लूट का सारा ड्रामा: एयरटेल कर्मचारी ने कर्ज उतारने के लिए गढ़ी थी लूट की कहानी

0
11

Smart Newsline (SN)

Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join)

जालंधर22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लूट की झूठी कहानी गढ़ने वाला प्रताप पुलिस अधिकारियों के साथ

बस्तियों में घास मंडी के पास हुई लूट का मामला फेक निकला है। युवक ने लूट की सारी कहानी खुद ही गढ़ी थी। दरअसल उसके साथ लूट जैसा कोई वाकया हुआ ही नहीं था। कंपनी के पैसे खर्च लिए तो घाटा पड़ गया। टोपी भी घुमाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी। अंत में सोचा कि लूट का ड्रामा रच कर इस मायाजाल से बाहर निकल जाऊंगा लेकिन कहते हैं कि झूठ के पांव नहीं होते और हुआ भी यही। वह खुद ही अपने तानेबाने में फंस गया।

पुलिस ने युवक को हिरासत में ले लिया है। उसके खिलाफ गुमराह करने के साथ-साथ अन्य धाराओं के तहत भी मामला दर्ज कर लिया गया है। लूट का कहानी बनाने वाले युवक प्रताप कुमार पुत्र ओम प्रकाश वासी मोहल्ला खुरला किंगरा कालोनी दो-दो फर्मों में काम करता था। प्रताप ने रसीला नगर स्थित पंकज इंटरप्राइजेज के करीब 98 हजार रुपये खर्च कर लिए। अब उसके सिर पर कर्ज हो गया।

वह एयरटेल कंपनी के पैसे रसीला नगर वाली फर्म में डालकर और अगले दिन वहां के पैसे एयरटेल में डालकर टोपियां घुमाता रहा। कुछ पैसे उसने दिए भी लेकिन फिर भी सिर पर सत्तर हजार का कर्ज रह गया। लेकिन यह टोपी घुमाने वाला काम ज्यादा दिन नहीं चल पाया। कर्जा सिर पर हो गया और फर्म वाले कैश मांगने लगे तो प्रताप ने लूट का सारा ड्रामा रचा। उसने 69 हजार रुपया कैश एयरटेल का इकट्ठा किया और रसीला नगर वाली फर्म का कर्ज चुकता कर दिया।

इसके बाद प्रताप का खेल गढ़ी गई कहानी के अनुसार खेल शुरू हुआ। डीसीपी जगमोहन सिंह के अनुसार 26 मई को प्रताप ने कंट्रोल रूम पर सूचना दी कि अज्ञात लुटेरे गन पॉइंट पर उससे 70 हजार रुपए की नगदी और दो मोबाईल फोन छीन कर मौके से फरार हो गए। लुटेरों ने उसके साथ मारपीट भी की है। लुटेरों के पास बंदूक के साथ-साथ तेजधार हथियार भी थे और जाते-जाते धमकी भी देकर गए हैं कि शोर मचाया तो उसे वह मार देंगे।

पुलिस को प्रताप की कहानी पर शक हो गया। पुलिस को सारी कहानी फैब्रिकेटेड लगी। पुलिस ने जब घटना की गहराई से जांच की तो आरोपी के अपने ही बयान आपस में मेल नहीं खा रहे थे। अपने दिये गए ब्यानों से झूठी कहानियां बनानी शुरू कर दी। पुलिस ने जब सख्ती से पूछताछ की तो आरोपी प्रताप टूट गया। उसने पुलिस के डंडे के आगे सारी सच्चाई बयां करके रख दी और अपना गुनाह भी कबूल कर लिया। उसने पुलिस को बताया कि सिर पर जो कर्ज हो गया था उससे पार पाने के लिए उसने यह सारी लूट की कहानी बनाई थी।

खबरें और भी हैं…

For breaking news and live news updates, like Smart Newsline on Facebook or follow us on Twitter & Whatsapp