इंग्लैंड भेजने के नाम पर हड़पे 18 लाख: विदेश जाने की चाहत में दंपति ने बेची थी मां की जमीन

0
9

Smart Newsline (SN)

Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join)

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • 18 Lakhs Grabbed In The Name Of Sending To England Couple Sold Mother’s Land In The Desire To Go Abroad, Case Registered

अंबालाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

हरियाणा के जिला अंबाला में इंग्लैंड भेजने के नाम पर 18 लाख रुपए हड़पने का मामला सामने आया है। विदेश जाने की चाहत में दंपति ने अपनी मां की जमीन बेचकर एजेंट को 18 लाख रुपए दिए थे। धोखाधड़ी का पता लगने पर पीड़ित ने आरोपी एजेंट जसवंत सिंह निवासी सन्नी एनकलेव हजटेक-739 चंडीगढ़ के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

पति-पत्नी को इंग्लैंड भेजने की कही थी बात

डेरा सलेमपुर निवासी अमर सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि आरोपी जसवंत सिंह का उसके गांव के चरणजीत सिंह पुत्र संत सिंह के घर आना-जाना था। कई बार उसकी जसवंत सिंह से मुलाकात हुई। जसवंत सिंह ने कहा कि वह इंग्लैंड भेजने का काम करता है। उन्हें बस रुपए का इंतजाम करना होगा, बाकी विदेश में भेजने और वहां हर तरह की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी उसकी होगी। आरोपी ने उसे व उसकी पत्नी को 18 लाख रुपए में इंग्लैंड भेजने की बात कही थी।

विदेश भेजने के लिए बेची मां की जमीन

शिकायतकर्ता ने बताया कि विदेश जाने से पहले रुपए की व्यवस्था कराने के लिए उसने अपनी माता जीतो देवी की गांव गुगल माजरा जिला करनाल स्थित जमीन को बेच दिया। 14 फरवरी 2021 को आरोपी जसवंत सिंह उसके घर आया और उन्होंने चरणजीत सिंह व सुभाष की उपस्थिति में 18 लाख रुपए जसवंत सिंह को दिए। इस दौरान जसवंत ने आश्वासन दिया कि वह जल्द ही उन्हें इंग्लैंड भेज देगा।

हर बार करता रहा गुमराह

शिकायतकर्ता ने बताया कि जसवंत सिंह ने उसके व उसकी पत्नी के तहसील बराड़ा से कोरे स्टाम्प पर हस्ताक्षर भी कराए। इसके बाद वह टाल मटोल करने लगा। आरोपी कहने लगा कि वह पहले उन्हें पुर्तगाल भेजेगा, फिर कहने लगा कि एयरमाइन से यूके भेजेगा। ऐसे कहते हुए 6 माह निकाल दिए। इसके बाद फिर चंडीगढ़ बुलाया और दस्तावेजों की औपचारिकताएं पूरी कराने का बहाने उन्हें रोककर रखा। वहां भी कोरे स्टाम्प पेपर पर उनके हस्ताक्षर कराए।

यूक्रेन का लगाया वीजा, पति-पत्नी को किया डिपोर्ट

​​​​​​शिकायतकर्ता ने बताया कि आरोपी ने उसका व उसकी पत्नी का यूक्रेन का वीजा फरवरी 2021 में लगवा दिया और कहा था कि पहले यूक्रेन उतरना है। यहां उसका एजेंट हमें लेने आएगा। वे दोनों 9 मार्च 2021 के लिए यूक्रेन के लिए रवाना हो गए, लेकिन यूक्रेन हवाई अड्डे पर उतरे तो वहां तैनात अधिकारियों ने उन्होंने डिपोर्ट कर दिया। उसने सारी बात अपने पिता और चरणजीत को फोन पर बताई।

इस वक्त भी आरोपी जसवंत सिंह ने झूठा आश्वासन दिया कि वह जल्द दुबई के रास्ते से हमें इंग्लैंड भेज देगा। इसके बाद भी आरोपी लगातार गुमराह करता रहा। आरोपी ने कोरोना की दूसरी लहर का बहाना बनाया। जब वह उसके ऑफिस में गए तो ऑफिस बंद मिला। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ शिकायत के आधार पर मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है

खबरें और भी हैं…

For breaking news and live news updates, like Smart Newsline on Facebook or follow us on Twitter & Whatsapp