आचार संहिता के कारण अटके तबादले: 2019 के बाद टीचर्स नहीं हुए ट्रांसफर; अब निकाय चुनाव के बाद शुरू होगी प्रकिया

0
7

Smart Newsline (SN)

Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join)

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Transfers Of Teachers Stuck Due To Code Of Conduct; Had Not Occurred Since 2019; The Process Will Start After The Civic Elections

चंडीगढ़28 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

शिक्षा सदन।

हरियाणा में अध्यापकों के ऑनलाइन तबादले चुनावी आचार संहिता के कारण अटक गए हैं, जो अब निकाय चुनाव के बाद किए जाएंगे। हालांकि इस दौरान तबादलों से जुड़ी अन्य औपचारिकताओं को जरूर पूरा कर लिया जाएगा। निकाय चुनाव को लेकर 46 शहरों में आचार संहिता लागू है। 18 नगर परिषद और 28 नगर पालिकाओं के चुनाव होने हैं। आचार संहिता के चलते शिक्षकों के तबादले नहीं किए जा सकते।

यही वजह है कि अब शिक्षा विभाग निकाय चुनाव समाप्त होने के बाद ही ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलिसी के तहत अध्यापकों की तबादला प्रक्रिया को आगे बढ़ाएगा। शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. महावीर सिंह ने कहा कि इसमें कुछ लीटिगेशन थे, जिस पर हाईकोर्ट से स्टे लगा हुआ था। मगर अब उस पर क्लीयरेंस मिल गई है। ऐसे में अब निकाय चुनाव के बाद जल्द ही ऑनलाइन तबादले शुरू किए जाएंगे।

2019 से नहीं हुए अध्यापकों के तबादले

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वर्ष 2016 में शिक्षा विभाग में ऑनलाइन तबादला नीति की शुरुआत करते हुए शिक्षकों के ऑनलाइन तबादले शुरू किए थे। सरकार की इस पारदर्शी नीति का न केवल सरकार ने खूब प्रचार-प्रसार किया, बल्कि देश के अन्य राज्यों ने भी हरियाणा सरकार की इस नीति का अनुसरण किया। मगर हरियाणा में यह नीति वर्ष 2019 के बाद पूरी तरह से ठप हो गई।

इसके चलते आज तक अध्यापकों के ऑनलाइन तबादले नहीं हुए। इसे लेकर अध्यापकों में भी रोष है। खास बात यह है कि इन छह सालों में जेबीटी के मात्र एक ही बार ऑनलाइन तबादले संभव हो पाए हैं। वर्ष 2019 से आज तक ऑनलाइन तबादले न होने को लेकर कई शिक्षक संगठन मंत्रियों और अधिकारियों से मिल चुके हैं। बावजूद इसके तबादला प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई।

खबरें और भी हैं…

For breaking news and live news updates, like Smart Newsline on Facebook or follow us on Twitter & Whatsapp