Global Statistics

All countries
334,279,569
Confirmed
Updated on January 18, 2022 10:23 pm
All countries
268,214,381
Recovered
Updated on January 18, 2022 10:23 pm
All countries
5,570,907
Deaths
Updated on January 18, 2022 10:23 pm

Global Statistics

All countries
334,279,569
Confirmed
Updated on January 18, 2022 10:23 pm
All countries
268,214,381
Recovered
Updated on January 18, 2022 10:23 pm
All countries
5,570,907
Deaths
Updated on January 18, 2022 10:23 pm

REET में संस्कृत भाषा की तैयारी: श्रीमद्भगवद्गीता मानकर करें याद, शब्द रूप और धातु रूप पर करें फोकस, लेवल 1 और 2 में नहीं ज्यादा अंतर, प्रामाणिक हो पाठ्यसामग्री

Punjab

पंजाब कांग्रेस में बगावत: मतदान से पहले डैमेज कंट्रोल में जुटी पार्टी; दूसरे दलों में जा रहे दिग्गज नेताओं की मान मनौवल शुरू

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) जालंधर4 घंटे पहलेकॉपी लिंकपंजाब में कांग्रेस की चुनाव टिकटें...

नाराजगी दूर करने के 6 दिन: सीएम अपने भाई तो सीनियर नेता राणा गुरजीत की नाराजगी दूर करने लगे, मजीठा से सच्चर की चंडीगढ़...

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) अमृतसर3 घंटे पहलेकॉपी लिंकपंजाब में चुनाव 6 दिन आगे...

कांग्रेस और आप पर सुखबीर के तंज: जो खुद टिकाऊ नहीं वो टिकाऊ सरकार कहां से देंगे, कांग्रेस को छोड़कर भाग रहे नेता

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) जालंधर29 मिनट पहलेकॉपी लिंकपत्रकारों को संबोधित करते सुखबीर बादलअकाली...

Smart Newsline (SN)

Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join)

  • Hindi News
  • Reet 2021
  • If You Read The Syllabus As Shrimad Bhagavad Gita, Then Success Will Kiss, There Is Not Much Difference Between Level 1 And 2, The Course Material Should Be Authentic.

जयपुर12 मिनट पहले

रीट में संस्कृत भाषा की परीक्षा है, तो 30 दिन में इसकी तैयारी के लिए जरूरी है विषय में श्रद्धा और समझने की ललक। संस्कृत को देव भाषा भी कहा जाता है। जिसमें त्रुटियां नहीं होनी चाहिए। पाठ्यक्रम और स्तर के अनुरूप धैर्य से रणनीतिक तैयारी करना ही सफलता की एकमात्र कुंजी है। नियमित रूप से सिलेबस के अनुसार पढ़ाई की जाए। पाठ्यक्रम में जो बिन्दु शेष रह गए हैं,उन्हें पहले तैयार करें। जो कठिन टॉपिक हैं, उन्हें विशेष रूप से तैयार किया जाए। संस्कृत में क्या आया है नया और क्या है इम्पॉर्टेंट। बिन्दुवार रीट अभ्यर्थियों के लिए दैनिक भास्कर ऐप के माध्यम से जानकारी लेकर आए हैं, संस्कृत विषय के एक्सपर्ट और राजकीय कन्या महाविद्यालय,अजमेर के सह आचार्य डॉ. के.आर. महिया।

पूरा पाठ्यक्रम कवर करें

विषय के प्रति श्रद्धा और समर्पण आवश्यक होता है। पाठ्यक्रम और स्तर के अनुरूप धैर्य के साथ रणनीतिक तैयारी करना ही सफलता की कुंजी है। नियमित रूप से सिलेबस के अनुसार पढ़ाई की जाए। महत्वपूर्ण और कम महत्वपूर्ण कुछ नहीं होता है। पाठ्यक्रम में जो बिन्दु शेष शेष रह गए हैं, उन्हें पहले तैयार करें। जो कठिन टॉपिक हैं, उन्हें विशेष रूप से तैयार करें। हर टॉपिक से एक प्रश्न आता है, इसलिए यह सकारात्मक सोच बहुत आवश्यक है कि मुझे सफल होने के लिए सम्पूर्ण पाठ्यक्रम कवर करना है।

संस्कृत भाषा में कौन से टॉपिक इंपॉर्टेंट हैं- लेवल-1 और लेवल-2 के हिसाब से

लेवल-1 और लेवल-2 में विशेष अंतर नहीं है। लगभग समान ही टॉपिक हैं। कुछ नए टॉपिक संस्कृत में भी जुड़े हैं। जिनमें ‘संख्या ज्ञानम्’ और ‘घटिका दर्शनम्’ मुख्य हैं। साथ ही अलंकार भी जोड़े गए हैं। उन पर विशेष अभ्यास की आवश्यकता है। छंद से संबंधित प्रश्न भी आता है। पद्य देकर छंद पूछा जाता है। कौनसे छंद में कितनी मात्राएँ,कितने गण और कितने वर्ण हैं। इसका ध्यान रखना चाहिए। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं तक की संस्कृत पाठ्यक्रम की पुस्तकों में जिन सूक्तियों का प्रयोग हुआ है उनका अभ्यास जरूर करना चाहिए। संस्कृत भाषा के पेपर में शिक्षण विधि के 15 अंक के प्रश्न आते हैं, जबकि 15 अंक व्याकरण के आते हैं।

पहले कौनसे टॉपिक क्लियर करने चाहिए

संस्कृत में अध्ययन का आरंभ ‘शब्द रूप’ और ‘धातु रूप’ से करना चाहिए। यही संस्कृत की आधारशिला हैं। इसके बाद प्राथमिकता से संधि, समास, उपसर्ग और प्रत्यय संबंधी अवधारणाओं को व्यावहारिक रूप से समझना आवश्यक है। क्योंकि ये विस्तार वाले बिन्दु हैं। इनकी तैयारी के बाद अन्य छोटे टॉपिक पढ़ने चाहिए। जिन्हें एक दिन में ही रिवाइज किया जा सकता है।

कोई परीक्षार्थी संस्कृत में किसी टॉपिक में कमजोर है, तो क्या करें।

नहीं, उस टॉपिक को क्लीयर करके ही आगे बढ़ें। एक अंक भी आपको मेरिट में आगे-पीछे कर सकता है। ऐसा कोई टॉपिक नहीं है, जो कठिन है। पाठ्यक्रम इसी पद्धति पर तैयार किया जाता है। जिसमें सामान्य स्तर की अपेक्षा की जाती है, विशेषज्ञता की नहीं।

एग्जाम क्रेक करने के लिए संस्कृत भाषा विषय में कौनसे टिप्स हैं

एग्जाम क्लीयर करने के लिए पाठ्यक्रम को श्रीमद्भगवद्गीता मानकर चलना चाहिए। रीट विद्यार्थियों को रीट स्तर के अनुरूप ही पढ़ाई करनी चाहिए। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म में मची होड़ के फेर में अभ्यर्थियों को भ्रम में डाल दिया जाता है। इसलिए रीट की तैयारी उसी स्तर के अनुसार करें, सेकंड ग्रेड शिक्षक की सेकंड ग्रेड अनुसार और फर्स्ट ग्रेड की तैयारी उसी पाठ्यक्रम और स्तर के अनुसार होनी चाहिए। रीट में प्रश्नों का स्तर सामान्य ही होता है।

अलग-अलग स्टडी मटेरियल में यदि अलग-अलग तथ्य दिखें, तो संशय कैसे मिटाएं

प्रामाणिक पुस्तकों और शब्दकोश का सहारा भाषा में लेना चाहिए। वामन शिवराम आप्टे का शब्दकोश प्रामाणिक है। भाषा कोई भी हो, प्रामाणिक शब्दकोश का ही सहारा लेना चाहिए। गाइड की ज्यादा महत्ता इसमें नहीं होती है,क्योंकि उस पर 100 फीसदी भरोसा नहीं करना चाहिए। इसके अतिरिक्त शब्द रूप और धातु रूप में प्रामाणिक पुस्तक ‘रचना अनुवाद कौमुदी’ है। इसके लेखक ‘डॉ. कपिल द्विवेदी’ हैं।

एनसीईआरटी पढ़ें, बोर्ड की बुक्स पढ़ें?

एनसीईआरटी की बुक्स को प्राथमिकता देनी चाहिए।

संस्कृत में किस टॉपिक से ज्यादा नंबर के सवाल निकलते हैं, जिस पर फोकस किया जाए

सभी टॉपिक बराबर हैं। शब्द रूप, धातु रूप से 2-2 प्रश्न आते हैं। संधि-समास से एक या दो प्रश्न आते हैं। कुल 30 प्रश्न आते हैं। जिनमें 15 व्याकरण के होते हैं। 15 शिक्षण विधियों के प्रश्न होते हैं। चूंकि प्रश्न पत्र का माध्यम संस्कृत होता है। इसलिए प्रश्न की भाषा भी समझ में आनी चाहिए। उसके लिए मॉडल पेपर या अच्छे शिक्षक का सहारा लेना चाहिए। अभ्यास नियमित रूप से करना चाहिए।

मार्केट में उपलब्ध अच्छी बुक्स कौनसी हैं।

रीट के लिए संस्कृत की अच्छी पुस्तकें शिक्षण विधि के लिए ज्ञान वितान प्रकाशन का ‘संस्कृत शिक्षण विधय’ है। साफल्यम् और सरस्वती की गाइडों का सहारा लिया जा सकता है। वैसे एनसीईआरटी और माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं तक की पुस्तकें पर्याप्त हैं। शेष कपिल द्विवेदी की ‘रचना अनुवाद कौमुदी’ से भी मार्गदर्शन ले सकते हैं।

पुराने पेपर और अलग-अलग कोचिंग की टेस्ट सीरीज कितनी उपयोगी है।

निश्चित रूप से पुराने प्रश्न पत्र महत्वपूर्ण हैं। जोकि विद्यार्थी को मार्ग दिखाते हैं। उसके लिए प्रश्न पत्र हल करने का रोडमैप तैयार करते हैं। प्रामाणिक शिक्षक अथवा संस्थान का मॉडल पेपर भी हल किया जाना चाहिए।

आपके पास किस तरह की समस्याएं छात्रों से आती हैं?

शब्द रूप और धातु रूप की खास तौर पर समस्याएं विद्यार्थियों को आती हैं। 10वीं कक्षा के बाद 90 फीसदी विद्यार्थियों का संस्कृत से नाता नहीं रहता है। इसलिए उन्हें समझने में काफी दिक्कत होती है। बच्चे प्रश्नों को ही नहीं समझ पाते कि परीक्षक पूछना क्या चाहता है। जीतने की मानसिकता से तैयारी करें, अवश्य सफलता मिलेगी।

इस लिंक पर क्लिक कर हमें भेजें आपके सवाल

ये भी पढ़ें…

REET 2021 साइकोलॉजी टीचिंग मेथड:मॉडल टेस्ट देकर परखें अपने टीचिंग स्किल्स, देखें ‘हिन्दी व्याकरण व शिक्षण विधियां’ की आंसर की

किसी की शादी अटकी, किसी के लिए REET आखिरी मौका:खुद को साबित करने को तैयार लाखों अभ्यर्थी, घर-परिवार छोड़ तैयारी में जुटे, बोले- अब आगे न बढ़े एग्जाम डेट

REET क्लियर करने का सबसे महत्वपूर्ण टिप्स:आज टीचिंग मेथड से जुड़े सवालों के जवाब पढ़िए, इनको समझ लिया तो 33 हजार शिक्षकों की लिस्ट में हो सकता है आपका नाम

REET 2021 में SST-इतिहास की तैयारी: रटने की बजाय उपन्यास की तरह दिमाग में उतारें हिस्ट्री, क्रोनोलॉजिकल ऑर्डर में करें तैयारी, एक्सपर्ट बनने की जगह सिलेबस के टॉपिक पर करें फोकस

REET की गाइडलाइन जारी:मोबाइल, घड़ी के साथ ज्वेलरी हुई बैन, परीक्षा से 30 मिनट पहले केंद्र पहुंचना जरूरी; 16 सितंबर तक जारी होंगे प्रवेश पत्र

खबरें और भी हैं…

For breaking news and live news updates, like Smart Newsline on Facebook or follow us on Twitter & Whatsapp

Hot Topics - Haryana

डेढ़ लाख में 15 दिन की दुल्हन: शादी करवाने के नाम पर ठगी का रैकेट चलाने वाला बिचौलिया दबोचा, पुलिस ने रिमांड पर लिया

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) हिसार11 घंटे पहलेकॉपी लिंकजगदीश और रूबी की शादी की...

मदद के नाम पर धोखा: युवक ने बदल डाला अधेड़ का एटीएम कार्ड, फिर दो बार में खाली कर दिया खाता

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) रोहतक10 घंटे पहलेकॉपी लिंकठगी का शिकार हुए सत्यवीर सिंह।हरियाणा...

रिश्वतखोर नायब तहसीलदार अमित कुमार गिरफ्तार: रजिस्ट्री के नाम पर एडवोकेट से लिए 14 हजार; विजिलेंस टीम ने रंगे हाथों ऑफिस से दबोचा

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) रेवाड़ी9 घंटे पहलेकॉपी लिंकहरियाणा के महेन्द्रगढ़ जिले में मंगलवार...

Related Articles - Delhi NCR

शिकंजे में अपराधी: स्कूल संचालक का अपहरण कर दस लाख की फिरौती मांगने वाला बदमाश पांच माह बाद गिरफ्तार

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) फरीदाबाद3 घंटे पहलेकॉपी लिंकपकड़ा गया बदमाश पुलिस से बचने...

शहीद की अंतिम यात्रा: 26 वर्षीय सचिन डागर की शहादत पर लोगों की आंखों से छलके आंसू, पिता ने कहा शहादत पर है गर्व

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) गुड़गांव41 मिनट पहलेकॉपी लिंकशहीद सचिन डागर को सेना ने...

स्वास्थ्य विभाग का खुलासा: भास्कर खास: तीसरी लहर में 18 से 44 साल के 58.40 फीसदी व 45 से 60 साल के 21. 86...

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) फरीदाबादएक घंटा पहलेकॉपी लिंक98.12 फीसदी लोग होम आइसोलेशन में...