Global Statistics

All countries
526,319,099
Confirmed
Updated on May 20, 2022 11:21 pm
All countries
481,832,598
Recovered
Updated on May 20, 2022 11:21 pm
All countries
6,298,333
Deaths
Updated on May 20, 2022 11:21 pm

Global Statistics

All countries
526,319,099
Confirmed
Updated on May 20, 2022 11:21 pm
All countries
481,832,598
Recovered
Updated on May 20, 2022 11:21 pm
All countries
6,298,333
Deaths
Updated on May 20, 2022 11:21 pm

हरियाणा में JBT कोर्स बंद: सरकारी DIET के बाद 342 निजी कॉलेजों में भी नो एडमिशन; 5000 से ज्यादा लोग हुए बेरोजगार, साढ़े 3 लाख डिग्री होल्डर हैं

Punjab

नदी में डूबे तीसरे बच्चे का शव भी मिला: लुधियाना में सतलुज में बहे थे 12-13 साल के 3 बच्चे, तीनों का अंतिम संस्कार...

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) लुधियाना21 घंटे पहलेकॉपी लिंकबाएं से आकाशदीप, चरनजीत सिंह और...

व्यक्ति ने की आत्महत्या की कोशिश: जान बची, टांग टूटी; पत्नी के धोखे से दुखी था, जालंधर के नागरा फाटक की घटना

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) जालंधर19 घंटे पहलेकॉपी लिंकपंजाब के जालंधर जिले में विवाहित...

तनखैया थमिंदर सिंह का SGPC पर आरोप: ई-मेल के जरिए भेजा जवाब, मांगी माफी- तख्त पर पेश नहीं हो सकता

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) अमृतसर17 घंटे पहलेकॉपी लिंकश्री गुरु ग्रंथ साहिब को गलतियों...

Smart Newsline (SN)

Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join)

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • After The Government Diet, There Will Be No Admission In Private Colleges From The New Session, More Than Five Thousand Staff Of 342 Private Colleges Will Be Unemployed

हिसारएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

जेबीटी भर्ती नहीं होने का हवाला देकर प्रदेश के सरकारी डाईट में दो साल पहले बंद किए जा चुके डी एल एड डिप्लोमा इन ऐलिमेंटरी कोर्स { जेबीटी } अब निजी कॉलेजों में भी बंद कर दिया गया है। नए सत्र से प्रदेश के 342 निजी कॉलेजों में जेबीटी कोर्स के लिए दाखिले नहीं होंगे। इन निजी कॉलेजों में जेबीटी कोर्स की 21000 सीटें थी व 5100 से ज्यादा का स्टाफ है। दाखिले बंद होने के कारण इन कॉलेजों के भविष्य पर भी संकट के बादल छा गए हैं साथ ही इनमें कार्यरत 3456 टीचर्स व 1728 नॉन टीचिंग स्टाफ के आगे भी रोजगार का संकट पैदा हो गया है। हालांकि सरकारी डाईट में कोर्स बंद करने के सरकार के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है लेकिन सरकार ने वहां पर जवाब दे दिया है कि प्रदेश में 2025 तक जेबीटी की भर्ती की कोई उम्मीद नहीं है। इस कारण से सरकार प्रदेश में इन कोर्स को चालू रखकर बेरोजगारों की फौज खड़ी नहीं करना चाहती है। इससे बेहतर है कि युवा इस कोर्स की बजाय इन रोजगारपरक कोर्स की तरफ ध्यान दें। इससे पहले प्रदेश के 25 सरकारी डाईट में जेबीटही कोर्स की 2750 सीट होती थी लेकिन सैशन 2021 से ही इन सीटों पर भी दाखिले बंद किए जा चुके हैं। शिक्षा विभाग से जुड़ी अलग-अलग यूनियनें सरकार के इस फैसले का विरोध कर चुकी हैं। उनके अनुसार प्रदेश में सरकारी नौकरी के लिए ही जेबीटी कोर्स की जरूरत नहीं है, प्राइवेट स्कूल व अन्य राज्यों की भर्तियों के लिए भी जेबीटी सहायक है। सरकार द्वारा इस कोर्स को बंद करने का फैसला गलत है।

प्रदेश के 8711 प्राथमिक स्कूलों में हैं 38804 जेबीटी पद

हरियाणा प्रदेश के जिलों में कुल 8711 प्राथमिक स्कूल हैं। इन स्कूलों में जूनियर बेसिक टीचर्स के कुल 38804 पद स्वीकृत हैं। फिलहाल प्रदेश में इन पदों पर 34600 रेगुलर व 6022 गेस्ट टीचर्स कार्यरत हैं। प्रदेश में 2011 में 9500 जेबीटी को भर्ती किया गया था जो आखिरी जेबीटी भर्ती थी। इस भर्ती के बाद से जेबीटी के कोई पद सरकारी स्कूलों में रिक्त नहीं हैं। शिक्षा विभाग के अनुसार प्रदेश में कुल साढ़े तीन लाख उम्मीदवार ऐसे हैं जिन्होने जेबीटी का कोर्स किया हुआ है। अगर इसी तरह से इस कोर्स को चालू रखा जाता है तो लगातार इनकी संख्या बढ़ती जाएगी लेकिन भर्ती की कोई उम्मीद नहीं है। इसके अलावा प्रदेश सरकार द्वारा 2011 के पास HTET पास करने वालों की मान्यता भी आजीवन कर दी है। इस कारण से जेबीटी पास उम्मीदवार पर अब HTET की तीन साल की मान्यता वाला नियम भी आड़े नहीं आएगा।

लगातार घट रही है प्राथमिक स्कूलों में बच्चों की संख्या

एक तरफ तो जेबीटी कोर्स करने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है वहीं दूसरी ओर प्रदेश के सरकारी प्राथमिक स्कूलों में बच्चों की संख्या लगातार घट रही है। 8711 स्कूलों में 2013 में 14 लाख के करीबन छात्र थे जो 2016 में घटकर 9 लाख 51 हजार रह गए वहीं अब इनकी संख्या सिर्फ 8 लाख ही बची है। लगातार सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या घटने के कारण एक हजार प्राथमिक स्कूल को दूसरे स्कूल में मर्ज किया जा चुका है व अन्य कई स्कूल अब भी एक कक्षा में 25 बच्चों के नियम को पूरा नहीं कर पा रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

For breaking news and live news updates, like Smart Newsline on Facebook or follow us on Twitter & Whatsapp

Hot Topics - Haryana

AAP सांसद सुशील गुप्ता का बड़ा बयान: कहा- हरियाणा में सरकारी गुंडों का बोलबाला; कुलदीप बिश्नोई अच्छे नेता, आते हैं तो स्वागत है

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) रेवाड़ी16 घंटे पहलेआम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रभारी और...

अश्लील वीडियो बना 25 लाख वसूले: पलवल में टीचर से लिपटी थी लड़की; मां ने बनाया VIDEO, पति-पत्नी गिरफ्तार-पूर्व सरपंच फरार

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) पलवल13 घंटे पहलेकॉपी लिंकप्रतीकात्मक फोटो।हरियाणा के पलवल में दुष्कर्म...

Related Articles - Delhi NCR

स्वास्थ्य को लेकर सतर्कता:: जिले के 6.5 लाख बच्चों व 50 हजार युवतियों को खिलाई जाएगी पेट में कीड़े मारने की दवा

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) फरीदाबाद3 घंटे पहलेकॉपी लिंकस्वास्थ्य विभाग ने की तैयारी, इससे...

हत्या या हादसा:: पार्क में मिला व्यक्ति का शव, सिर में चोट के निशान, हत्या की आंशका, पुलिस जांच में जुटी

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) फरीदाबाद2 घंटे पहलेकॉपी लिंकसेक्टर 21 बी रेलवे लाइन के...