Global Statistics

All countries
530,739,037
Confirmed
Updated on May 27, 2022 11:47 pm
All countries
487,060,356
Recovered
Updated on May 27, 2022 11:47 pm
All countries
6,309,157
Deaths
Updated on May 27, 2022 11:47 pm

Global Statistics

All countries
530,739,037
Confirmed
Updated on May 27, 2022 11:47 pm
All countries
487,060,356
Recovered
Updated on May 27, 2022 11:47 pm
All countries
6,309,157
Deaths
Updated on May 27, 2022 11:47 pm

सच्चे गुरुजन: पेंशन से निखार रहे छात्राओं में कला के रंग, शतरंज से सिखा रहे सफल जिंदगी की चाल

Punjab

खुद ही रचा था लूट का सारा ड्रामा: एयरटेल कर्मचारी ने कर्ज उतारने के लिए गढ़ी थी लूट की कहानी

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) जालंधर22 मिनट पहलेकॉपी लिंकलूट की झूठी कहानी गढ़ने वाला...

STF ने पकड़ी 5 किलो 500 ग्राम हेरोइन: 3 नशा तस्कर काबू, सीमावर्ती इलाकों से लाते थे ड्रग

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) लुधियाना3 घंटे पहलेकॉपी लिंकSTF टीम द्वारा हेरोइन सहित गिरफ्तार...

पुलिस ने 2 मोबाइल झपटमार किये काबू: महिलाओं और बुजुर्गों के छीनते थे फोन, 39 मोबाइल, 1 मोटरसाइकिल बरामद, 1 आरोपी फरार

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) लुधियाना2 घंटे पहलेकॉपी लिंकपुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गए छीना...

SHO ने लगाये ACP पर अपशब्द बोलने के आरोप: पुलिस लाइंस में करवाई रवानगी, CP ने कहा-बिना बताये हुई है रवानगी, अब होगी कार्रवाई

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) लुधियानाएक घंटा पहलेकॉपी लिंकथाना डाबा की फोटो।पंजाब की लुधियाना...

Smart Newsline (SN)

Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join)

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Colors Of Art In The Girls Who Are Getting Better With Pension, The Tricks Of Successful Life Are Being Taught By Chess

रोहतक20 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • कहानी 2 टीचर की जो रिटायरमेंट के बाद भी मकसद से नहीं हुए रिटायर

ज्ञान का उजियारा फैलाने का दायित्व संभालते ही शिक्षक का जीवन शिक्षा को समर्पित हो जाता है। समर्पण का ये भाव उन्हें पूज्य बनाता है। इनमें से ही ऐसे हैं जिनके लिए उम्र कभी बाधा नहीं बनीं। शिक्षण के सफर में ये किसी पद से सेवानिवृत्त तो ज़रुर हुए, लेकिन कर्म की प्रधानता को इन्होंने कभी नहीं छोड़ा। शिक्षक दिवस पर हम आपकाे जिले के 2 ऐसे शिक्षकों से रूबरू करा रहे हैं जो रिटारमेंट के बाद भी शिक्षण के असल मकसद से रिटार नहीं हुए हैं।

डॉ. बलजीत सिंह; फन के ये शिल्पकार, अब भी कॉलेज जाकर निखार रहे बेटियों का हुनर

श हर के आईसी कॉलेज कैंपस निवासी निवासी 64 वर्षीय डॉ. बलजीत सिंह घनघस रिटायर्ड कॉलेज प्रिंसिपल हैं। 2015 में जुलाना के सरकारी कॉलेज से रिटायर हुए थे। फाइन आर्ट इनका विषय रहा है। अध्यापन में करीब 3 दशक बिताने के बाद रिटायरमेंट में भी डॉ. बलजीत सिंह फिर शिक्षण से ही जुड़े हैं। रोहतक के राजकीय स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय में निशुल्क सेवाएं दे रहे हैं। छात्राओं के कला हुनर को निखारने के लिए अपने हुनर का अनुभव व पेंशन भी उनके नाम करते हैं। बेटियों के लिए अपनी पेंशन से ही ड्राइंग शीट, कैनवास, रंगों और अन्य सामान का खर्च भी उठाते हैं।

कॉलेज आने वाली आर्थिक तौर पर कमजोर कई छात्राओं की प्रतिमाह फीस का खर्च ये अपनी पेंशन से उठाते हैं। डॉ. बलजीत सिंह कहते हैं कि आज भी कई ऐसे मामले आते हैं जिनमें होनहार बेटियों को उनके परिजन कॉलेज नहीं भेजना चाहते। खेल में राष्ट्रीय प्रतियाेगियातों में दूसरे प्रदेशों में भेजने पर झिझक महसूस करते हैं। डॉ. बलजीत सिंह इन परिवारों को समझाने में कॉलेज की ओर से अगुवाई करते हैं। बेटियों के हुनर को नई पहचान मिले इसके लिए वो अपने स्तर पर जुलाना और आईसी कॉलेज में इंटरनेशनल फोटोग्राफी एग्जीबिशन करवा चुके हैं।

डॉ. केएस बेनीवाल; शतरंज की चालों से बेटियों को सुझा रहे सफल जिंदगी की राह

डॉ. केएस बेनीवाल मूल रूप से महम के खेड़ी गांव के रहने वाले हैं। पॉलीटिक्स पॉलीटिकल साइंस के प्रोफेसर डॉ. केएस बेनीवाल रिटायरमेंट के बाद ‘जीअो बेटी’ नाम से एक ट्रस्ट चलाते हैं। ट्रस्ट बेटियों के लिए शतरंज कॉम्पीटिशन का आयोजन कराता है। बेटियों को शतरंज में महारत हासिल करने की निशुल्क ट्रेनिंग भी देता है। शतरंज के एक अच्छे खिलाड़ी रहे डॉ. बेनीवाल खुद उन्हें ट्रेनिंग देते हैं। बकौल डॉ. केएस बेनीवाल शतरंज एक माइंड डेवलपमेंट टेक्नीक का गेम है। बेटियों को लेकर एक ही चीज की कमी है वो भी हमारी ओर से ही।

बेटियों को उनकी जिंदगी से जुड़े फैसले लेने का हक उन्हें ही देना चाहिए। मेरा मानना है शतरंज वो खेल है जो बेटियों को भविष्य वह फैसले लेने में सक्षम बनाता है जो उनकी जिंदगी से जुड़े होंगे। डॉ. केएस बेनीवाल की दो बेटियां हैं। बेटी अनुराधा बेनीवाल इंटरनेशनल लेवल की चेस चैंपियन हैं। तीन साल पहले अनुराधा ने ही अपने पिता के साथ गांव में ट्रस्ट की ओर से लड़कियों को शतरंज की ट्रेनिंग शुरू की थी। 40 का सलेक्शन विभिन्न प्रतियोगिताओं के लिए हुआ। 6 राष्ट्रीय लेवल तक पहुंच चुकी हैं। गांव में हर साल बेटियों के लिए प्रतियोगिता करा उन्हें सम्मानित करते हैं।

खबरें और भी हैं…

For breaking news and live news updates, like Smart Newsline on Facebook or follow us on Twitter & Whatsapp

Hot Topics - Haryana

अधिकारियों के तबादलों पर रोक: चुनाव प्रक्रिया से जुड़े अधिकारियों व कर्मियों के तबादले पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) जींद41 मिनट पहलेकॉपी लिंकनिकाय चुनाव आयोग ने उन कर्मचारियों...

संवाद कार्यक्रम: केंद्रीय स्कीमों के लाभार्थी भी कार्यक्रम में लेंगे भाग

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) रोहतक27 मिनट पहलेकॉपी लिंकजिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी...

दुष्कर्म के दोषी को 10 साल की सजा: शादी का झांसा देकर की थी घिनौनी वारदात; युवती गर्भवती भी हुई थी

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) पानीपत11 घंटे पहलेकॉपी लिंकपानीपत न्यायिक न्यायालय।हरियाणा के पानीपत जिले...

Related Articles - Delhi NCR

पुलिस एक्शन:: अफसरों, विधायकों, पार्षदों की फर्जी मोहर लगाकर आधार कार्ड, पैन कार्ड व श्रम कार्ड आदि बनाने वाली सीएससी का भंडाफोड़, एक हिरासत...

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) फरीदाबादएक घंटा पहलेकॉपी लिंकसीएम फ्लाइंग की छापेमारी में की...