Global Statistics

All countries
527,374,491
Confirmed
Updated on May 22, 2022 1:26 pm
All countries
483,154,957
Recovered
Updated on May 22, 2022 1:26 pm
All countries
6,300,071
Deaths
Updated on May 22, 2022 1:26 pm

Global Statistics

All countries
527,374,491
Confirmed
Updated on May 22, 2022 1:26 pm
All countries
483,154,957
Recovered
Updated on May 22, 2022 1:26 pm
All countries
6,300,071
Deaths
Updated on May 22, 2022 1:26 pm

अस्पताल ने अपनी स्लिप जारी की: अब डॉक्टर की पर्ची पर न बाहर से टेस्ट हाेंगे, न दवाइयां ला सकेंगे

Punjab

पटियाला में महिला की हत्या, बेटा गंभीर: गुरुद्वारा क्वार्टर में दोनों को तेजधार हथियार से काटा; जानकार से हुई थी अनबन

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) पटियाला7 घंटे पहलेकॉपी लिंकमृतक महिला सतिंदर कौर व उनका...

गुरदासपुर में पूर्व सैनिक का कत्ल: आरोपियों ने मारने के बाद नहर के पास फेंका, खून से लथपथ शव मिला

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) अमृतसर20 मिनट पहलेकॉपी लिंकघटनास्थल पर पहुंची पुलिस।पंजाब गुरदासपुर के...

पांवटा साहिब में डूबा पंजाब का युवक: मरने वाला लुधियाना का, गुरुद्वारे में माथा टेकने के बाद यमुना में नहाने उतरा था परिवार

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) पौंटा साहिब4 घंटे पहलेकॉपी लिंकहिमाचल में सिरमौर के पांवटा...

फिरोजपुर की DRM पहुंचीं लुधियाना: सीमा शर्मा ने रेलवे पटरियों का निरीक्षण किया, यूनियन नेताओं से भी बैठक की गई

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) लुधियानाएक घंटा पहलेकॉपी लिंकDRM सीमा शर्मा रेल पटरियों का...

Smart Newsline (SN)

Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join)

पंचकूलाएक दिन पहलेलेखक: संदीप काैशिक

  • कॉपी लिंक
  • बाहर से दवाइयां और टेस्ट करवाने को लेकर हिदायतें जारी, 15 दिन बाद रिकॉर्ड की जांच हाेगी

जनरल अस्पताल में अब प्लेन पेपर पर न ताे मरीजाें से बाहर की दवाइयां मंगवाई जाएंगी और न ही टेस्ट करवाए जाएंगे। अस्पताल में एडमिट मरीज के इलाज में अगर बहुत जरूरी है ताे ही बाहर से दवाई और टेस्ट करवाने के लिए लिखा जाएगा। वाे भी उस स्लिप पर लिखा जाएगा, जाे अस्पताल की ओर से जारी की गई है, जिसका अस्पताल के पास पूरा रिकाॅर्ड भी हाेगा। जिसमें ये भी पता चलेगा कि किस मरीज के लिए किस डाॅक्टर ने काैन सी दवाई या टेस्ट बाहर से करवाने या लाने के लिए लिखा है।

ये वाे दवाइयां हाेंगी जाे या ताे अस्पताल में नहीं हाेंगी या मरीज के इलाज में बेहद जरूरी है। ये भी साफ कर दिया है कि अगर काेई डाॅक्टर स्लिप पर बाहर से दवाइयां मंगवाता है या टेस्ट करवाता है ताे वह अपनी जिम्मेवारी पर फैसला लेगा। इसमें अस्पताल या स्वास्थ्य विभाग जिम्मेवार नहीं हाेगा। मरीजाें और उनके परिजनाें काे भी साफ किया है कि प्लेन पेपर पर काेई डाॅक्टर लिखे ताे वह मान्य नहीं है। अगर बाहर से दवाइयां ला रहे है ताे अस्पताल की स्लिप पर ही लाएं।

सुबह के वक्त चेकिंग हाेने के कारण अब एमआर ने शाम की ओपीडी काे टारगेट बना लिया है। जितने एमआर सुबह आते हैं, उतने ही शाम काे भी एमआर ओपीडी में आते है। इसकी भी सूचना पीएमओ ऑफिस के पास है, जिसके लिए भी जांच करने के लिए कार्रवाई की जा रही है। लेकिन ग्राउंड लेवल पर सख्ती हाेती नहीं दिखाई देती।

अब अस्पताल की ओर से जारी होगी स्लिप
सिविल अस्पताल पंचकूला की ओर से स्लिप जारी की गई है। जिस पर तारीख, सीरियल नंबर, मरीज का नाम, यूएचआईडी नंबर लिखा है। किस वार्ड में मरीज एडमिट है, उस वार्ड का इंचार्ज काैन है, उसका नाम भी इस स्लिप पर लिखना हाेगा। इसके बाद वे दवाइयां, कंज्यूमेबल, डाॅक्टर की ओर से बाहर से करवाने के लिए बाेले गए टेस्ट जाे सिविल अस्पताल में उपलब्ध नहीं है वह भी लिखनी हाेगी, जिसके बाद संबंधित डाॅक्टर और उस वक्त तैनात नर्सिंग स्टाफ का नाम और साइन भी इस स्लिप पर किए जाएंगे। इसका पूरा रिकाॅर्ड अस्पताल के पास भी रहेगा। रिकॉर्ड महीने में 15 दिन बाद जांच भी की जाएगी।

एमआर काे लेकर कई डाॅक्टराें काे दी जा चुकी है वाॅर्निंग
कई बार शिकायतें ओन के बाद अस्पताल प्रबंधन की ओर से एमआर काे लेकर चेकिंग की गई। चेकिंग के दाैरान ओपीडी के बाहर एमआर भी पाए गए। कुछ डाॅक्टराें काे वाॅर्निंग भी दी गई और उसके बाद से वहां पर एमआर नहीं पाए गए। हालांकि, अब भी कुछ ओपीडी के बाहर एमआर माैजूद रहते हैं। जिसे लेकर अस्पताल प्रबंधन की ओर से चेकिंग के लिए प्लानिंग की जा रही है। इस दाैरान अगर किसी डाॅक्टर के पास एमआर मिला ताे उनके खिलाफ लिखित कार्रवाई भी की जा सकती है।

कुछ दिनाें पहले डीजी हेल्थ की ओर से निर्देश आएथे, जिसके बाद ही इस पर्ची काे जारी किया है। अगर काेई डाॅक्टर एडमिट मरीज से बाहर की दवाई मंगवाता है ताे वाे अपने रिस्क पर इस पर्ची पर मंगवाएगा। ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्स के भी साइन हाेंगे। ये वाे दवाई हाेगी जिसका या ताे स्टाॅक अस्पताल में नहीं है या मरीज के हित में मंगवाना जरूरी हाे। हर 15 दिन बाद इन सभी पर्चियाें का ऑडिट हाेगा, पता लगाया जाएगा कि आखिर क्याें दवाइयां या टेस्ट काे बाहर से लाना पड़ा या करवाना पड़ा।
– डाॅ. सुवीर सक्सेना, पीएमओ, जनरल अस्पताल

खबरें और भी हैं…

For breaking news and live news updates, like Smart Newsline on Facebook or follow us on Twitter & Whatsapp

Hot Topics - Haryana

गदपुरी टोल पर अनिश्चितकालीन धरना चलेगा: पलवल में महापंचायत ने कहा-नहीं देंगे टोल; HHAI उनकी मांगों को माने, SDM से मिलेंगे

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) पलवलएक घंटा पहलेकॉपी लिंकगदपुरी टोल पर चल रही पंचायत...

दर्दनाक हादसे में पति-पत्नी की मौत: यमुनानगर में बाइक सवार दंपती को ट्रक ने कुचला; धू-धूकर जली बाइक, ड्राइवर को पकड़ा

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) यमुनानगर42 मिनट पहलेकॉपी लिंकहरियाणा के यमुनानगर में रविवार को...

नौकरानी ने चुराया 20 तोले सोने का टुकड़ा: पानीपत की वारदात; संपत्ति का बंटवारा करने लगे तो हुआ खुलासा

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) पानीपत25 मिनट पहलेकॉपी लिंकप्रतीकात्मक चित्र।पानीपत शहर में मॉडल टाउन...

Related Articles - Delhi NCR

दिल्ली में मौसम खराब ने किया परेशान: 10 फ्लाइट्स अमृतसर एयरपोर्ट पर लैंड हुईं, अव्यवस्था के चलते पैसेंजर्स ने रनवे पर गुजारी रात

Smart Newsline (SN) Get Latest News from Smart Newsline on Whatsapp (Click to Join) अमृतसर24 मिनट पहलेकॉपी लिंकरनवे पर खड़े यात्री फ्लाइट्स के...