Monday, April 19, 2021

Kisan Andolan India At UN Human Rights Council Showed Utmost Respect To Protesting Farmers | भारत ने कहा- हम आंदोलन कर रहे किसानों का सम्मान करते हैं, उनकी समस्याओं के समाधान के लिए लगातार बातचीत कर रहे

Must Read

COVID-19 in India| UK to add India on COVID 19 travel red list on precautionary basis | भारत को ट्रैवल रेड लिस्ट में डाला,...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें Smart Newsline ऐपब्रिटिश सरकार ने भारत में कोविड-19...

US sends team to probe fatal Tesla crash with no driver

The National Highway Traffic Safety Administration said Monday it has sent a Special Crash Investigation team to Spring, Texas,...

Expulsion of French envoy not a solution to blasphemy in the West: Imran Khan on radical group’s demand

Expulsion of the French ambassador from Pakistan was not a solution to stop the incidences of blasphemy in the...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें Smart Newsline ऐप

किसान नए कृषि कानूनों के खिलाफ 26 नवंबर से दिल्ली बॉर्डर पर जमे हुए हैं। उनकी मांग है कि तीनों कानूनों को वापस लिया जाए।

किसान आंदोलन लेकर होने वाली बयानबाजी के लिए भारत ने बिना किसी का नाम लिए संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) को जमकर सुनाया। UNHRC के 46वें सत्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि इंद्रमणि पांडे ने कहा कि भारत सरकार ने आंदोलन कर रहे किसानों के प्रति पूरा सम्मान दिखाया है। सरकार किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए निरंतर बातचीत में लगी हुई है।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इंद्रमणि पांडेय ने UNHRC उच्चायुक्त मिशेल बैचलेट की किसान आंदोलन पर की गई टिप्पणी पर निशाना साधते हुए कहा कि निष्पक्षता और तटस्थता किसी भी मानवाधिकार मूल्यांकन की पहचान होनी चाहिए। हमें खेद है कि कुछ बयानों में इन दोनों की कमी है।

उन्होंने कहा कि भारत ने 2024 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य का रखा है। कृषि सुधार के लिए लाए गए तीनों नए कानून उनकी फसल का उचित मूल्य दिलाने और उनकी आय बढ़ाने के उद्देश्य से लाए गए थे।

ये कहा था UNHRC ने
फरवरी की शुरुआत में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त के कार्यालय ने भारत सरकार और प्रदर्शनकारियों से संयम बरतने की अपील की थी। इंटरनेट पर लगाई गई पाबंदियों पर UNHRC ने कहा था कि ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह से शांतिपूर्ण ढंग से इकट्ठा होने और अपनी बात रखने के अधिकार की रक्षा की जानी चाहिए।

बैचलेट ने कहा था कि किसान आंदोलन की रिपोर्टिंग या टिप्पणी करने वाले पर जर्नलिस्ट और एक्टिविस्ट पर मामले दर्ज करना और सोशल मीडिया पर फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन पर अंकुश लगाने का प्रयास करना जरूरी मानवाधिकार सिद्धांतों के खिलाफ है।

26 नवंबर से दिल्ली के बॉर्डर पर जमे किसान
किसान नए कृषि कानूनों के खिलाफ 26 नवंबर से दिल्ली बॉर्डर पर जमे हुए हैं। 26 जनवरी को लाल किले की हिंसा के बाद कमजोर पड़े आंदोलन को किसान संगठन फिर से तेज करने की कोशिशों में लगे हुए हैं। उनकी मांग है कि तीनों कानूनों को वापस लिया जाए।

खबरें और भी हैं…

Follow @ Facebook

Follow @ Twitter

Follow @ Telegram

Updates on Whatsapp – Coming Soon

Latest News

Amitabh Bachchan lends vocals to Hanuman Chalisa for Kunal Kohli’s new series Ramyug

Actor Amitabh Bachchan will lend his voice and recite the Hanuman Chalisa for upcoming series on MX Player called...

Bollywood Lockdown: Coronavirus Outbreak India Cases LIVE Update Swara Bhaskar’s mother Ira and Cook and Vatsal Seth tested corona positive | स्वरा भास्कर की...

Hindi NewsEntertainmentBollywoodBollywood Lockdown: Coronavirus Outbreak India Cases LIVE Update Swara Newsline's Mother Ira And Cook And Vatsal Seth Tested Corona PositiveAds से है परेशान?...

Janhvi Kapoor glows in new pics: ‘Kisses from the sun’

Janhvi Kapoor took to her Instagram to share new pictures from her sunny vacation. See them here. PUBLISHED ON APR 19, 2021 08:44 PM IST Actor...

Kareena Kapoor shares a pic of her stunning swimming pool from her Mumbai home

Kareena Kapoor and Saif Ali Khan moved into their new house in Mumbai earlier this year. The decision to shift was taken after Kareena...

Bhoomi Pednekar became covid-19 Warrior and Gurmeet Choudhary also got inspired from sonu sood | कोरोना से जूझते लोगों की मदद के लिए आगे...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें Smart Newsline ऐपक्लाइमेट वॉरियर के तौर पर नेचर के लिए काम कर चुकीं...

More Articles Like This